एसिडिटी के घरेलु उपचार ( Acidity ke gharelu upchar aur Lakshan ) :

एसिडिटी के घरेलु उपचार 


इसमें पेट में एसिड पैदा होता हैं यदि यह अधिक मात्रा में बन जाये तो आपको एसिडिटी (Acidity) की प्रॉब्लम हो जाती हैं। इसमें पेट में दर्द या जलन महसूस होती हैं। एसिडिटी हो जाने पर हर बार टेबलेट लेना सही उपाय नहीं है क्योंकि इसके साइड इफ़ेक्ट भी होता हैं. लेकिन आयुर्वेद के इलाज से कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है, और इस परेशानी से छुटकारा मिल जाता हैं। यदि आपको रुक रुक कर पेट में जलन और असहनीय पीड़ा होती हैं तो आपको एसिडिटी या गैस की समस्या है, इसमें कई बार सीने में भी दर्द या जलन हो जाती हैं। ज्यादातर एसिडिटी अपने खान पान के कारण होती हैं, यदि आप ज्यादा तेल, जंक फूड और ज्यादा मसालेदार खाने का सेवन करते हैं तो आपको एसिडिटी की शिकायत हो सकती हैं। कई बार ज्यादा देर तक खाये पिए न रहने के कारण भी एसिडिटी हो जाती हैं।

एसिडिटी (Acidity) का इलाज करने से अच्छा है की आप एसिडिटी से ही दूर रहे। जिन पदार्थो से एसिडिटी होती हैं उनसे दुरी बन कर रखे। इसलिए आप ज्यादा तेल, जंक फूड और ज्यादा मसालेदार खाना, कॉफी, शराब, चाय और धूम्रपान से दुरी बन कर रखे. यदि आपको एसिडिटी होती है तब तो इनका खास ध्यान रखे। अगर आपको एसिडिटी होती है तो इसका इलाज जल्दी करे नहीं तो आपको आगे जाकर और भी परेशानी हो सकती हैं।

Acidity

एसिडिटी (Acidity) होने के कुछ कारण इस प्रकार है –

सबसे बड़ा कारण हमारे खाने की अनियमितता
मसालेदार भोजन या फिर जंक फूड पदार्थो का सेवन
पानी काम पीना
जल्दी बाजी में खाना खाना या आवशयकता से अधिक खाना
शराब या अल्कोहल का अधिक सेवन
धूम्रपान करने से भी एसिडिटी हो जाती हैं
कॉफी या चाय का अधिक सेवन आदि कारण हो सकते हैं।
Acidity Remedies

एसिडिटी को दूर करने के घरेलु उपचार ( Home Remedies For Acidity ) :

नारियल का पानी पीने से एसिडिटी या गैस की प्रॉब्लम को दूर किया जा सकता हैं।
दालचीनी पाउडर को शहद में मिला कर धीरे से चाटे तो एसिडिटी में तुरंत फायदा आता हैं।
तरबूज और उसके बीज एसिडिटी के लिए बहुत ही लाभदायक हैं, तरबूज में पानी की मात्रा बहुत अधिक होती हैं, इसलिए गर्मियों के मौसम में तरबूज जरूर खाना चाहिए.
दिन में एक इलाइची मुंह में रख कर इसे धीरे धीरे चबाने से एसिडिटी (Acidity) दूर हो जाती हैं।
आंवला, अदरक और निम्बू पानी से भी एसिडिटी में फायदा होता हैं।
मेथी की सब्जी खाने से भी एसिडिटी को दूर किया जा सकता हैं।
सौंफ खाने से भी एसिडिटी (Acidity) में फायदा होता है.
पुदीना और हरे धनिये की चटनी का उपयोग करने से भी लाभ होता है।
हरहड पेट की एसिडिटी और जलन को सही करने में मदद करती हैं।
आप लहसुन का पेस्ट बन कर इसका भी सेवन कर सकते है क्योंकि पेट की बीमारियों में इसे लेने से फायदा होता हैं।

click Here

[ Earphones Tech ][ Ayurveda For You ][ Bset Skincare Tips ][ thrombosed hemorrhoids Treatments ]